Categories
News

फै’क्ट चैक-: समाजवादी पार्टी में दौड़ी शो’क की लहर, नही रहें मुलायम सिंह!! अखिलेश ने……

खबरें

मुलायम सिंह यादव सिर्फ 21 साल की उम्र में पहली बार साल 1949 में सर’पंच बने थे, 24 साल सर’पंच रहने के बाद वो 15 सालों तक ब्लॉ’क प्रमुख रहे।सो’शल मीडिया पर बहुत सारे लोग दावा कर रहे हैं कि सपा संस्था’पक और पूर्व सी’एम मुलायम सिंह यादव का निध’न हो गया है, इसके बाद से उन्हें श्रद्धां’जलि देने वालों का तां’ता लगा हुआ है, लोग अखि:लेश यादव और सपा के आधिका’रिक ट्विटर हैंडल को टैग कर शो’क जता रहे हैं।

क्या है सच
दरअ’सल फेसबुक ट्वि’टर पर मुलायम सिंह यादव की मौ’त की खबर चली है, दरअ’सल पिछले महीने सपा के पूर्व एमए’मसी मुलायम सिंह यादव का नि’धन हुआ था, वो 92 साल के थे, जिस’के बाद लोगों को लगा कि सपा संस्थापक मुला’यम सिंह यादव का ही नि’धन हो गया, एक पार्टी और एक नाम होने की वजह से लोगों को ये कंफ्यू’जन हुआ है।

नेताजी के करीबी
मुला’यम सिंह यादव समा’जवादी पार्टी के व’रिष्ठ नेता थे, यूपी के पूर्व सीएम तथा सपा के संस्था’पक मुलायम सिंह यादव के काफी करी’बी माने जाते थे, वो साल 1949 में पहली बार सर’पंच बने थे, इसके बाद जीवन भर स’क्रिय राज’नीति में एक्टि’व रहे। लोगों की समस्या’ओं के लिये काम करते रहे।

सपा से एमएलसी
मुलायम सिंह यादव सिर्फ 21 साल की उ’म्र में पहली बार साल 1949 में सर’पंच बने थे, 24 साल सर’पंच रहने के बाद वो 15 सालों तक ब्लॉ’क प्र’मुख रहे, फिर बीस सालों तक विधानस’मंडल सद’स्य यानी एमए’लसी रहे, उन्हें जनता के बीच का नेता माना जाता था।

मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी (Samaajwadi Party) के वरिष्ठ नेता थे और साल 1949 में पहली बार सरपंच बने थे. वे जीवन भर राजनीति में सक्रिय रहे.

लखनऊ: समा’जवादी पार्टी (Samaajwadi Party) के वरिष्ठ नेता और पूर्व MLC मुलायम सिंह यादव (Mulaayam Singh Yadav) का निधन हो गया. वे 92 वर्ष के थे. मुलायम सिंह यादव ने अपने आ’वास पर आखि’री सांस ली. उनकी मौ’त शनि’वार रात में हुई.

मुलायम के करीबी थे मुलायम
मुला’यम सिंह यादव समा’जवादी पार्टी के वरि’ष्ठ नेता थे और यूपी के पूर्व मुख्य’मंत्री मुलायम सिंह यादव के काफी क’रीबी थे. वे साल 1949 में पह’ली बार सर’पंच बने थे और जीवन भर स’क्रिय राजनीति में रहे. हालांकि पिछले काफी समय से उनकी तबि’यत खराब चल रही थी.

रविवार को हुआ अंतिम संस्कार
मुलायम सिंह यादव का अंति’म संस्कार औरै’या जिला में उनके गांव में हुआ. इस दौ’रान पार्टी के कार्य’कर्ता भारी संख्या में मौजूद रहे.

महज 21 साल की उम्र में बने थे सरपंच
मुला’यम सिंह यादव सिर्फ 21 साल की उम्र में पह’ली बार साल 1949 में सर’पंच बने थे. 24 साल सरपंच रहने के बाद वो 15 सा’लों तक ब्लॉक प्र’मुख रहे और फिर 20 सालों तक विधान’मंडल सदस्य यानी एमएलसी.