Categories
News Other

बिग ब्रेकिंग-: इस राज्य में फिर से लगेगा लॉकडाउन? उप-मुख्यमंत्री ने दियें बड़ें संकेत………

खबरे

महाराष्ट्र के कुछ जिलों में कोवि’ड-19 मा’मलों में वृद्धि को ख’तरना’क बताते हुए उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने सोमवार को लोगों को आगाह किया कि सरकार कुछ कठोर फैसले ले सकती है और इसके लिए लोगों को तैयार रहना चाहिए। पूर्वी महाराष्ट्र में विदर्भ क्षेत्र के कुछ जिलों, खा’सकर अमरावती और नागपुर, तथा उत्तर महाराष्ट्र के नासिक में पिछले कुछ दिनों में सं’क्रमण के नए मा’मलों की संख्या बढ़ी है।

पत्रकारों से बात करते हुए, पवार ने लोगों को म’हामा’री से बचने के लिए उपयुक्त व्यवहार का पा’लन नहीं करने और दि’शानिर्दे’शों का उ’ल्लंघ’न करने पर ना’राज’गी व्यक्त की। राज्य के वित्त मंत्री पवार म’राठवा’ड़ा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले आठ जिलों की समीक्षा बैठक के लिए औ’रंगाबा’द में थे।

उन्होंने कहा, मुझे पता चला है कि लोग को’विड-19 दि’शानि’र्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं, जो सं’क्रम’ण के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से बनाए गए हैं। यदि स्थिति बि’गड़ती है, तो हमें इस ला’परवा’ही के लिए भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। राज्य में नए मा’मलों की संख्या चिं’ताजनक है। हमने देखा है कि म’हामा’री की दूसरी लहर के मद्देनजर दुनिया के कई हिस्सों में फिर से लॉकडा’उन लगाया गया। पवार ने कहा कि इस मुद्दे पर आज रात मुंबई में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा की जाएगी।

उन्होंने कहा, कठोर फै’सले लिए जा सकते हैं और लोगों को तैयार रहना चाहिए। यदि समय पर कुछ फै’सले नहीं लिए गए तो हमें बाद में भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। महाराष्ट्र सरकार के अनुसार, राज्य में रविवार को को’रो’ना वा’यर’स सं’क्रम’ण के 4092 नए मा’मले सामने आए, जिससे सं’क्रम’ण के कुल मा’मले बढ़कर 2064278 तक पहुंच गए, जबकि 40 और मौ’तें होने से रा’ज्य में मृ’तकों की संख्या 51529 तक पहुंच गई।

राज्य में अब तक 1975603 लोग बीमारी से ठीक हो चुके हैं, जबकि रविवार को उ’पचारा’धीन मरीजों की संख्या 35965 रही। इस बीच, पवार ने उन विपक्षी दलों की आलोचना की जिन्होंने मांग की है कि 19 फरवरी को छ’त्रपति शिवाजी महाराज की जयंती मनाने पर कोई प्रतिबं’ध नहीं लगाया जाएगा।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता ने कहा, सरकार ने शिवाजी जयंती समारोह के लिए 100 लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति दी है, लेकिन वि’पक्ष कहता है कि राज्य सरकार द्वारा प्र’तिबंध लगाए जा रहे हैं। म’हामा’री के समय में, लोगों के जीवन को बचाना महत्वपूर्ण है। पिछले साल, लोगों ने अपने घरों पर त्योहार मनाए।