Categories
News

ट्रे’क्टर प’रेड हिं’सा -: NOC पर साइन करने वालों पर गृहमंत्रालय ने चलाया हं’टर, रा’केश टि’कैत, यो’गेन्द्र यादव सहित नेताओं पर……

खबरें

गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में कि’सान ट्रै’क्टर प’रेड के दौ’रान हुई हिं’सा के मा’मले में केंद्रीय गृह मंत्रा’लय द्वारा स’ख्त रु’ख अपनाए जाने के बाद दि’ल्ली पु’लिस भी ह’र’कत में आ गई है। पु’लिस ने ट्रैक्टर प’रेड के लिए अ’नाप’त्ति प्रमा’ण पत्र (NOC) पर सा’इन करने वाले सभी किसा’न ने’ताओं पर ए’फ’आ’ई दर्ज की है।

दिल्ली पु’लि’स ने जिन किसान नेताओं के खि’ला’फ ए’फआ’ईआ’र दर्ज की है उनमें- रा’केश टि’कैत, योगेंद्र यादव, वीएम सिंह, वि’जेंदर सिंह, हर’पाल सिंह, विनोद कुमार, दर्शन पाल, राजेंद्र सिंह, बलवीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह, जगतार बाजवा, जोगिंदर सिंह उगराहां के नाम शा’मिल बताए जा रहे हैं।

किसान नेता राकेश टिकैत के खि’लाफ गा’जीपुर थाने में के’स दर्ज किया गया है। ह’त्या का प्र’यास, दं’गा, पु’लि’स पर ह’मला, स’रकारी व निजी सं’पत्ति को नु’कसा’न प’हुंचाने सहित अन्य धा’राएं लगाई गई हैं।

दि’ल्ली पु’लिस ने मंगलवार को शहर में कि’सान ट्रै’क्टर रै’ली के दौ:रान हुई हिं’सा के सं’बंध में 200 लोगों को हि’रा’सत में भी लिया है, जल्द ही उन्हें गि’रफ्ता’र किया जा’एगा। ट्रै’क्टर प’रेड में घा’यल पु’लिस क’र्मि’यों की सं’ख्या भी ब’ढ़कर 313 हो गई है। अब तक इस मा’मले में 22 ए’फआ’ईआ’र द’र्ज की जा चुकी हैं। माना जा रहा है कि अभी और ए’फआ’ईआ’र द’र्ज की जाएंगी।

किसानों के प्रदर्शन स्थलों पर अ’तिरिक्त अ’र्धसैनि’क बलों की तै’नाती

कि’सानों की ट्रै’क्टर प’रेड के दौ’रान हुई हिं’सा के सं’बंध में दिल्ली पु’लिस के अ’धिकारियों ने ब’ताया कि मंगलवार को हुई हिं’सा में शा’मिल कि’सानों की पहचान करने के लिए कई सी’सीटीवी फु’टेज और तमा’म वी’डियो खं’गाले जा रहे हैं और दो’षियों के खि’लाफ कड़ी का’र्रवाई की जाएगी। हिं’सा के बाद राजधानी में कई स्था’नों पर सु’रक्षा क’ड़ी कर दी गई है, खासकर लाल किले और किसा’नों के प्रदर्शन स्थलों पर अतिरिक्त अ’र्धसै’निक ब’लों की तै’नाती की गई है।

चार रूटों पर निकाली जानी थी ट्रै’क्टर प’रेड

सं’युक्त कि’सान मो’र्चा की ओर से ग’णतंत्र दिवस के मौके पर किसान ट्रैक्टर प’रेड निकालने का प्रस्ताव दिया गया था। ट्रैक्टर परेड के संबंध में मोर्चा के साथ दिल्ली पु’लिस की कई दौर की बै’ठक हुई थी। पु’लिस ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा ने चार रास्तों पर शांतिपूर्ण परेड निकालने का आ’श्वासन दिया था,

उन्होंने बताया कि पु’लिस कर्मियों ने उन्हें रोका तो किसानों का एक वर्ग हिं’सक हो गया, उन्होंने बै’रिके’ड्स तोड़ दिए तथा वहां मौजूद पु’लि’स क’र्मियों को कु’चलने का प्रयास किया। हालांकि, बाद में पु’लिस ने ला’ठीचार्ज करके हिं’सक भी’ड़ को नि’यंत्रित किया, लेकिन यहां से वे लाल किले की ओर बढ़ गए। मंगलवार को लगभग 90 मिनट तक अ’फरा-त’फरी मची रही, किसान अपनी ट्रैक्टर प’रेड के निर्धारित मार्ग से ह’टकर इस ऐति’हासिक स्मा’रक तक पहुंच गए थे। वहां वे उस ध्वज-स्तंभ पर भी अपना झंडा लगाते दिखे, जिस पर प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस के दिन राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। काफी मश’क्कत के बाद पु’लिस ने प्रद’र्शनका:री कि’सानों को लाल किला प’रिसर से ह’टा दिया था।