Categories
जुर्म

पत्नी को झुकाकर घंटों से*स करता था पति, प्राइ’वेट पा’र्ट में जलती बीड़ी भी….…

खबरे

हरियाणा के रोहतक जि’ले में अदालत ने प’त्नी के साथ अप्रा’कृ’तिक सं’बं’ध बनाने वाले पति को 7 साल जेल की स’जा सुनाई है. माम’ला पिछ’ले साल का है. जिले की थाना शिवाजी कॉलोनी के एक गांव की महि’ला ने के’स द’र्ज कराया था कि उनके पति ने शरा’ब पी’कर उनके साथ जब’रन अप्रा’कृ’तिक यौ’न सं’बं’ध बनाए. मना करने पर पति ने उनके साथ मा’रपी’ट की और ज’लती बी’ड़ी छाती पर र’गड़ दी. शो’र मचाने पर तीनों बच्चे उसके पास आ गए. इसके बाद आ’रो’पी वहां से भाग गया था.

इस मा’म’ले में दो’षी पति को अति’रिक्त जिला एवं सत्र न्या’या’धी’श आरपी गोयल की अदालत ने 7 साल की स’जा सुनाई है. अदा’लत ने दो’षी पर साढ़े सात हजार रुपए का जु’र्मा’ना भी लगाया है. जु’र्मा’ना न भरने की एवज में सात महीने की अतिरिक्त स’जा भु’गतनी होगी. इसी के साथ को’र्ट ने टिप्प’णी की कि महिलाओं को लेकर संवि’धान निर्मा’ता डॉ. भी’मराव आंबेडकर ने कहा था कि अगर समाज की उन्नति मापनी है तो महिला की उन्नति को माप’ना होगा.

‘अप्राकृ’तिक यौ’न सं’बंध बनाना घो’र निं’द’नीय’
कोर्ट ने यह भी कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि जैसे पक्षी एक पंख से नहीं उड़ सकता उसी तरह स्त्री और पुरुष एक-दूसरे के बिना नहीं चल सकते. श्री गुरु नानक जी देव ने कहा था कि महिला ने राजाओं को भी जन्म दिया है, उसकी निं’दा नहीं कर सकते. पत्नी के साथ अप्रा’कृ’ति’क यौ’न सं’बंध बनाना घो’र निं’द’नीय है