Categories
News Other

बुरी खबर-: उत्तराखंड में फिर टूटा कुदरत का क’हर, 200 की……….😭

खबरें

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से मची तबाही में पॉवर प्रोजेक्ट्स को तो नुकसान पहुंचा ही, साथ ही सामरिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण पुल भी बह गया. ये पुल सेना को तिब्बत बॉर्डर से जोड़ता है और LAC पर मौजू’द सै’निकों तक र’सद पहुँचाने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. चीन के साथ मौजूदा तनाव के बीच इस पुल की अहमियत आप समझ सकते हैं.

जैसे ही खबर आई कि पुल बह गया है. केंद्र ने फ़ौरन ITBP के 200 जवानों को घटनास्थल की ओर रवाना कर दिया. ये जवाब विषम परिस्थितियों में पुल बनाने में माहिर हैं. इसके अलावा दुर्गम स्थानों पर रेस्क्यू अभियान में भी ये जवान अहम भूमिका निभा सकते हैं. उत्तराखंड हादसे के बाद गृह मंत्री अमित शाह तुरंत एक्शन में आ गए. उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रि’वेंद्र सिंह रावत से बात की और हर संभव मदद का आ’श्वासन दिया.

NDRF की अतिरिक्त टुकडियां दिल्ली से हवाई मार्ग से उत्तराखंड भेजी जा रही हैं. एनडीआरएफ के चार दलों (करीब 200 कर्मी) को हवाईमार्ग से देहरादून ले जाया जा रहा है जहां से वे जोशीमठ जाएंगे.

उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उत्तर प्रदेश के संबंधित विभागों और अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया. योगी ने गंगा नदी के किनारे पड़ने वाले सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को भी पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं.