Categories
Other

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया अपना फैसला

40 दिनों की लगातार सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुनाने का निर्णय लिया था. जिसके बाद आज यानी 9 नवंबर को यह फैसला आने की घोषणा की गयी थी. 5 जजों की बेंच मुख्य न्यायधीश के साथ बैठकर अपना फैसला सुनाएगी. दशकों से कोर्ट में चल रहे देश के इस बड़े मामले ने हर किसी की नजर इस फैसले पर टिका दी है.

जानकारी के लिए बता दें अयोध्या मामले पर फैसला आने से पहले पूरी यूपी में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं साथ ही 4 हजार जवानों को अयोध्या में केंद्र सरकार द्वारा भेज दिए गये थे. इतना ही नही अयोध्या को कई जोन में बांटकर धारा 144 लागू कर दी गयी थी. पांच सौ सालों से चल रहा ये मामला 9 नवंबर को ऐतिहासिक बनने वाला है.

अब अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. इस समय की सबसे बड़ी खबर ये आ रही है कि शिया वक्फ बोर्ड की याचिका ख़ारिज किया गया है. निर्मोही अखाड़े का सूट खारिज हो गया है. बाबरी मस्जिद वेकिंग लाइन पर नहीं बनी थी. कोर्ट ने अपने फैसला सुनाते हुए बताया है कि जहाँ पर मस्जिद बनी थी वहां पर पहले मंदिर था. वहीँ मुस्लिम पक्ष अपना कब्ज़ा साबित नहीं कर पाया.

गौरतलब है कि मुस्लिमों को वैकल्पिक जमीन देने का आदेश सर्वोच्च अदालत ने दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि राम जन्मभूमि न्यास को यह विवादित जमीन राम मंदिर निर्माण के लिए दे दी गयी है. मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाया जाये जिसके बाद मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो. वहीँ सुन्नी बोर्ड को 5 एकड़ जमीन मस्जिज बनाने के लिए दी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.