Categories
Other

सुप्रीम कोर्ट ने 3 बड़ी टेलीकॉम कंपनियां को भेंजा नोटिस, नाम जानकर चौक जाएंगे

कल रात सुप्रीम कोर्ट ने देश की बड़ी टेलीकॉम कंपनियां एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया को फटकार लगाई है और कहा है कि वो अपना समायोजित सकल राजस्व (AGR) बकाये का भुगतान 17 मार्च तक जमा करने का आदेश दिया है. आपको बता दें कि दूरसंचार विभाग के इस आदेश के बाद आसार है कि देश की ये तीन बड़ी टेलीकॉम कंपनियों की सेवाएं भी जल्द बंद हो सकते है, वहीं अभी तक इस आदेश के बाद किसी भी कंपनी ने कोई बयान जारी नहीं किया है.

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार

आपको बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने दूरसंचार एवं अन्य कंपनियों के निदेशकों से पूछा था कि एजीआर बकाए के भुगतान के आदेश का अनुपालन नहीं किए जाने को लेकर उनके खिलाफ अवमानना कार्रवाई क्यों नहीं की जाए. 1.47 लाख करोड़ रुपये में से 92,642 करोड़ लाइसेंस फीस है और 55,054 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम चार्ज का है.

जानकारी के मुताबिक कुछ समय पहले वोडाफोन के सीईओ निक रीड ने कहा था कि वोडाफोन की भारतीय इकाई वोडाफोन आइडिया फिलहाल आईसीयू में है. अगर सरकार से समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) के भुगतान में राहत नहीं मिलती है तो फिर इसका असर आगे देखने को मिल सकता है. सेवाओं को बंद भी किया जा सकता है।

निक ने आगे कहा कि सरकार इतना समय दे ताकि वो एजीआर के अलावा अन्य भुगतान भी समय पर कर सकें. इसको लेकर के एयरटेल, टाटा टेलिसर्विसेज और वोडाफोन आइडिया ने सुप्रीम कोर्ट में सुधारात्मक याचिका दायर कर रखी है, जिस पर जल्द ही फैसला आने की उम्मीद है. कंपनियों ने अपनी याचिका में कोर्ट से अनुरोध किया है कि वो दूरसंचार विभाग को भुगतान करने की समय सीमा को आगे बढ़ा दें.

आपको बता दें कि किस कंपनी पर कितना बकाया है.

भारती एयरटेल                 21,682.13
वोडाफोन-आइडिया                 19,823.71
रिलायंस कम्युनिकेशंस             16,456.47 
बीएसएनएल                             2,098.72 
एमटीएनएल                             2,537.48