Categories
Other

ग्राहक पांच गुना महंगा डेटा खरीदने के लिए हो जाएं तैयार!

इन दिनों भारत की सारी टेलीकॉम कंपनियां बहुत बुरे दौर से गुजर रही हैं. ऐसे में अब अस सब का असर धीरे-धीरे ग्रहकों को भुगतना पड़ रहा है. आपको बता दें कि हाल ही में सभी टेलीकॉम कंपनियों के टैरिफ बढ़ाए गए हैं. लेकिन बताते चलें कि अब आपका मोबाइल यूज करना और भी महंगा होने वाला है.

आपको बता दें कि टेलीकॉम रेग्यूलेटर बॉडी (TRAI) अब एक फ्लोर प्राइसिंग लाने की तैयार कर रही है. जानकारी के मुताबिक Reliance Jio ने (TRAI) को फ्लोर प्राइस बढ़ाने के लिए बोला है. बता दें कि इस कंपनी ने कहा है कि शुरुआत में डेटा के लिए 15 रुपये प्रति जीबी फिक्स करना चाहिए.

साथ ही Reliance Jio ने TRAI को ये भी सलाह दी है कि छह से नौ महीने के बाद इसे बढ़ाकर 20 रुपये प्रति जीबी भी किया जा सकता है. खबरों के मुताबिक रिलायंस  Jio ने कहा है कि भारतीय कस्टमर्स प्राइस सेंसिटिव है. फ्लोर प्लान बढ़ाने के लिए जरूरत है कि इसे एक बार में न किया जाए और कुछ समय के अंतराल पर फ्लोर प्लान में बढ़ोतरी की जाए.

आपको बता दें कि टेलीकॉम कंपनियों को सरकार को हजारों करोड़ रुपये देने हैं. इस सब को लेकर वोडाफोन आइडिया जैसी कंपनियां सर्वाइवल के लिए जूझ रही हैं. वहीं बताते चलें कि TRAI एक कंस्लटेशन पेपर पर काम कर रही है ताकि इन्हें रिवाइव किया जा सके. जानकारी के मुताबिक फ्लोर प्राइसिंग में डेटा के लिए एक बेस प्राइस फिक्स की जाएगी.

वोडफोन आइडिया ने हाल ही में डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम को लेटर लिखा है. इस लेटर में कंपनी ने कहा है कि 1 जीबी डेटा का मिनिमम प्राइस 35 रुपये कर देनी चाहिए. बताते चलें कि आप 1 GB डेटा के लिए मौजूदा समय में लगभग 4 से 5 रुपये देते हैं.

अब वोडाफोन, आइडिया और रिलायंस जियो जैसी कंपनियां इस फ्लोर प्राइसिंग को लेकर डेटा की कीमतों बढ़ाने की सिफारिश कर रही हैं. वहीं बता दें कि अगर TRAI ने कंपनियों की बात मान ली तो इस केस में भी डेटा की कीमतें बढ़ेंगी. वहीं डेटा प्राइस बढ़ने का मतलब सीधे तौर पर आपके मोबाइल रिचार्ज प्लान पर होगा और ये पहले से ज्यादा महंगे हो जाएंगे।