Categories
वशीकरण

पेशाब करते वक़्त बोलें ये शब्द, शत्रु होगा चारों तरफ से बर्बाद..

वशीकरण

पेशाब से वशीकरण मंत्र, वशीकरण के कई प्रयोगों में ऐसी वस्तुओं का उल्लेख मिलता है जिनको पाना हर किसी के लिए संभव नही हो पाता है| ऐसे में कई साधक निराश हो जाते हैं और सोचने लगते हैं कि वशीकरण के लिए बहुत कठिन मंत्र विभिन्न प्रकार की दुर्लभ वस्तुओं की आवश्यकता होती है|

इस तरह की सोच रखने वालों को हताश होने की ज़रूरत नही है क्योंकि वे अपने ही पेशाब से वशीकरण के उपाय कर सकते हैं| पेशाब से वशीकरण मंत्र का प्रयोग बहुत ही आसन है|

पेशाब से वशीकरण मंत्र
पेशाब से वशीकरण मंत्र
यदि आप पेशाब से वशीकरण करना चाहते हैं तो आपको यहाँ दिया गया उपाय करना चाहिए| पेशाब से सम्भोग वशीकरण भी किया जा सकता है|

यहाँ पर पेशाब से वशीकरण मंत्र दिया जा रहा है जिससे आप किसी का भी वशीकरण कर सकते हैं| यदि आप किसी स्त्री या पुरुष को सम्भोग के लिए आकर्षित करना चाहते हैं तो आपको इस वशीकरण मंत्र और उपाय से अवश्य लाभ होगा|

पेशाब से वशीकरण करने के लिए आपको कपूर की आवश्यकता होगी| इस प्रयोग को करने के लिए पूर्णिमा का दिन सही होता है| पूर्णिमा के दिन रात में किसी एकांत स्थान पर जाएँ और वहां पर ज़मीन पर कपूर रख दें|

अब इस कपूर के ऊपर पेशाब कर दें| कपूर पर पेशाब करते समय आपको इस मंत्र का जाप करना है|

यह मंत्र इस प्रकार है –

“श्री अक्षोभ्य-ऋषये नम: शिरसि”

इस मंत्र का 51 बार जाप करें| मंत्र जाप पूरा होने पर आप उस व्यक्ति का नाम लें जिसका आप वशीकरण करना चाहते हैं| अब उस स्थान को छोड़कर घर आ जाएँ घर आते समय पीछे मुड़कर न देखें|

इस पेशाब से वशीकरण मंत्र का असर अगले ही दिन से आपको दिखाई देने लगेगा| जिस भी स्त्री या पुरुष को आप आकर्षित करना चाहते हैं वह इस प्रयोग को करने के बाद आपका होकर रहेगा|

इस पेशाब से वशीकरण मंत्र का प्रयोग पूर्णिमा के दिन चांदनी रात में ही करना चाहिए| इस प्रयोग को एक व्यक्ति ( स्त्री या पुरुष) पर एक से ज्यादा बार प्रयोग न करें|

पेशाब से वशीकरण मंत्र और उपाय इतने शक्तिशाली होते हैं कि इनसे सिर्फ दो मिनिट में ही वशीकरण हो जाता है| यदि आप भी 2 मिनिट में ही किसी स्त्री या पुरुष को वश में करना चाहते हैं या अपना बनाना चाहते हैं तो यहाँ दिए गए उपाय को करें|

इस शक्तिशाली पेशाब से वशीकरण मंत्र उपाय का उल्लेख कामरत्न तंत्र में मिलता है| यह वशीकरण का उपाय प्रेमी प्रेमिका पर काफी अच्छा असर करता है|

इसका प्रयोग करने के लिए आपको दिन या समय देखने की ज़रूरत नही है क्योंकि इसे कभी भी किया जा सकता है|

इस पेशाब से वशीकरण उपाय को करने के लिए आपको गिरगिट के रक्त की आवश्यकता होगी| थोड़ी से मिट्टी लें और इसमें गिरगिट का थोड़ा सा खून मिला दें| अब जिसका भी आप वशीकरण करना चाहते हैं जिसकी कल्पना करें और इस मिट्टी से एक पुतले या पुतली का निर्माण कर दें|

अब इसे उस स्थान पर गाढ़ दें जहाँ पर वह स्त्री या पुरुष पेशाब करता है| जैसे ही वह स्त्री या पुरुष उस स्थान पर पेशाब करेगा जहाँ यह पुतला या पुतली दबा है तो उसका पूर्ण वशीकरण हो जायेगा|

जिस भी स्त्री या पुरुष का आप वशीकरण करना चाहते हैं उस पर इस वशीकरण का असर साफ़ दिखाई देगा|

यदि आप किसी स्त्री या लड़की को अपने वश में करना चाहते हैं तो इसके लिए पेशाब से वशीकरण मंत्र के उपाय आपको करने में देर नही करनी चाहिए|

इस उपाय को करने के लिए आपको चांदी की पायल की आवश्यकता होगी| वशीकरण का यह उपाय बहुत ही सटीक है| इसके प्रयोग से आप पत्नी, पड़ोसन, प्रेमिका या मकान मालकिन सभी को वशीभूत कर सकते हैं|

इस पेशाब से वशीकरण मंत्र उपाय करने के लिए आपको एक चांदी की पायल और मिट्टी के पात्र की आवश्यकता होगी| आप एक मिट्टी का पात्र लें और फिर इसमें चांदी की पायल को रखकर उनमें अपना मूत्र डाल हैं| इस चांदी की पायल को 21 दिनों तक अपने मूत्र में डूबी रहने दें| लेकिन आप हर दिन अपना मूत्र बदलते रहें| हर दिन पुराना मूत्र फैंक कर ताजा मूत्र मिट्टी के पात्र में डालें|

जब 21 दिन पुरे हो जाएँ तो पायल को मिट्टी के पात्र से निकाल लें और अच्छी तरह से साफ़ करके रख लें| अब उसे उस स्त्री को पहना दें जिसका आप वशीकरण करना चाहते हैं|

इस पायल को पहनने के कुछ समय बाद ही उस पर वशीकरण का प्रभाव चढ़ जायेगा और वह आपकी गुलाम बनकर रहने लगेगी|

मनचाही स्त्री को पाने या उसके ह्रदय में जगह बनाने के लिए आप पेशाब से वशीकरण मंत्र का प्रयोग कर सकते हैं| यदि आप किसी स्त्री को प्यार करते हैं लेकिन कोशिश करने पर भी आपके प्यार की गाड़ी आगे नही बढ़ पा रही है तो आपको स्त्री वशीकरण के अंतर्गत पेशाब से वशीकरण मंत्र का प्रयोग अवश्य करना चाहिए|

इसे करने की विधि इस प्रकार है-

इस प्रयोग को शनिवार के दिन से शुरू करके अगले शनिवार तक जारी रखें| शनिवार को सुबह जल्दी उठकर इस वशीकरण के प्रयोग को करना चाहिए| उठकर आपको पेशाब करने जाना है और यहाँ दिए गए मंत्र का जाप 21 बार करें|

यह मंत्र इस प्रकार है –

ओम उच्छिष्ठ चंडालिनी देवी अमुकी ह्रदयम प्रविश्य मम ह्रदये…

प्रवेशय प्रवेशय हन हन देहि देहि पच पच हुन् फट स्वाहा|