Categories
News

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

खबरें

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनके देश ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन बना ली है. व्लादिमीर पुतिन ने दावा किया कि ये दुनिया की पहली सफल कोरोना वैक्सीन है, जिसे रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

रूस के वैक्सीन बनाने के दावे पर दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने बात की और उन्होंने यह भी बताया कि अब भारत क्या नया प्रयोग करेगा.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि एक सफल वैक्सीन का टीका सुरक्षित होना चाहिए, यह पहला मानक है. सैंपल का आकार क्या है? यह कितना प्रभावकारिता दिखा रहा है? हमें यह भी स्पष्ट करने की आवश्यकता है कि टीका सुरक्षित होना चाहिए.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

गुलेरिया ने कहा कि एम्स अब ऐसे मामलों पर ध्यान केंद्रित करेगा जो कोरोना वायरस से रिकवर हो चुके हैं, उनका ध्यान रखने के लिए पोस्ट-कोविड रिकवरी क्लिनिक शुरू किया जाएगा. ताकि उनके फेफड़ों की क्षमता में सुधार पर ध्यान दिया जा सके, चाहे वह व्यायाम, योग, आहार या यहां तक ​​कि दवाइयां ही क्यों ना हों.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

जिन मरीजों में रिकवरी के बाद फेफड़ों की समस्या मिल रही है, उन पर भी ध्यान दिया जाएगा. कुछ मरीज पोस्ट-कोविड के कई सीक्वल देख रहे हैं. रिकवरी के बाद भी कुछ रोगियों को बड़ी असुविधा हो रही है, सांस लेने में भी तकलीफ देखने को मिल रही है. 

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

गुलेरिया ने यह भी बताया कि पोस्ट-कोविड रिकवरी क्लिनिक के लिए इजरायल भारत की मदद करेगा. रोबोट उपकरण रोगियों की निगरानी करने में मदद करेंगे.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

उन्होंने कहा कि ये उपकरण दूरदराज के क्षेत्रों में भी फेफड़े, हृदय और सांस लेने की समस्याओं वाले लोगों के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है और उनके जीवन को बचाया जा सकता है. इनका कस्बों और अन्य क्षेत्रों के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में शहरों के बड़े अस्पतालों में इस्तेमाल किया जा सकता है.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

भारत में कोरोना की स्थिति पर बात करते हुए गुलेरिया ने कहा कि कोरोना की स्थिति भारत के कुछ राज्यों में अभी जैसी स्थिति है आने वाले समय में और गड़बड़ हो गई है. देश में अगले कुछ सप्ताह में पीक की स्थिति हो सकती है. उन्होंने ये भी बताया कि लोगों को सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए. 

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

भारत में वैक्सीन के विकास पर उन्होंने बताया कि भारतीय टीके दो-तीन परीक्षण चरणों तक पहुंच चुके हैं. हमारे पास बड़े पैमाने पर वैक्सीन उत्पादन क्षमता है, भारत वैक्सीन पर शुरू से ही काम कर रहा है.

रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग, AIIMS डायरेक्टर ने बताया

बता दें कि कोरोना वायरस से जूझ रही पूरी दुनिया में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उम्मीद जगा दी है. पुतिन ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनके देश ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन