Categories
Entertainment News

अगर आपके पास है यह पुराना टीवी तो गौर से पढ़े ये खबर,हो जायेगे मालामाल….

हिंदी वायरल खबर

इन दिनों कबा,ड़ि,यों के पास रोजाना 100 से ज्यादा लोग ऐसे आ रहे हैं, जो पुराने शटर वाले टीवी या रेडियो के बारे में पूछ रहे हैं। हैरानी की बात है कि इसके लिए लोग मुंह मांगी कीमत देेने के लिए तैयार है। लेकिन, टीवी या रेडियो खरीदने से पहले एक शर्त रखी जा रही है, जो है लाल ट्यूब की। अब कुछ लोगों को ना तो इस ट्यूब का नाम पता और ना ही इसके बारे कि ये क्या हैं, लेकिन भाईसासहब! ट्यूब तो चाहिए ही, भले ही 50 हजार देने पड़ जाएं। क्या आप भी कुछ ऐसे ही शटर वाले टीवी या रेडियो की तलाश में हैं? अगर हां तो पहले ये खबर पढ़ लीजिए।

इन दिनों सोश’ल मी’डिया पर दा’वा किया जा रहा है कि तीन दशक पहले बंद हो चुके टीवी-रेडियो (शटर वाले) में रेड मर्करी ट्यूब है, जिसकी मार्के,ट में लाखों रुपये की’मत है।कई ज,गह तो इस,की की,मत एक करोड़ रुपये ब’ताई जा रही है। लेकिन, इ,सकी हकी’क’त कुछ और ही है। तेजी से फै,ल रहे मैसे’ज के बाद पु’लि’स भी सतर्क हो गई है।
सोशल मी’डिया पर रेड मर्करी को लेक’र कहा जा रहा है कि 30 से अ’धिक द’शक के पहले के पुराने मोनो’क्रोम टेलीवि’ज़न में कंटे’नर जैसे छोटे कां,च की बोतल में यह तरल पदा’र्थ होगा। इसको लेकर कई तरह के दावें किए जा रहे हैं। कुछ के अनु’सार, रेड मर्करी का उप’योग बम बनाने के लिए किया जा रहा है। वहीं, कुछ दावा कर रहे हैं कि COVID-19 को ठीक करने के लिए रेड म,र्करी का इस्ते’माल किया जा सकता है। लेकिन आपको बता दें कि अभी तक ऐसी कोई भी वैज्ञा’निक पु’ष्टि नहीं है।

रेड मर्करी को लेकर कई तरह के ”दावें कि’ए गए हैं। यह एक तरह का तरल प’दार्थ है। इसको लेकर कथि,त रूप से परमाणु हथि,यारों के निर्माण में उपयोग की जाने वाली अनि’श्चित रचना का एक पदार्थ बताया गया है, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं है। टीवी कारो’बारी हर’मीत सिंह का कहना है कि अगर ऐसा होता तो पु’राने टीवी कबा,ड़ में नहीं बि,कते और न ही इन’को बनाने वाली कंप,नियां बंद होतीं। ज्यादा’तर ये अफ,वाहें किसी गि’रोह’ की क’रतूत हैं जो शाय’द प्रचार के माध्यम से पैसा क’माना चाहते हैं।

बेंगलुरु के एक सॉफ्’टवेयर इं’जीनि’यर को रेड मर्क’री के नाम पर 22 ला’ख की च’पत लगी है। गिरोह के लोगों ने रेड मर्करी ट्यू’ब देने ने का वादा किया था। आठ स’दस्’यीय गि’रोह को मालवल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है और रुपये ज,ब्त, किए हैं। वहीं, हैद’राबाद ए’सीपी एसी,पी (साइबर अपराध) केवी’एम प्रसाद ने कहा कि इस तरह की घट’नाओं की अब तक को’ई शिका’यत नहीं है, लेकिन लोगों को सतर्क रहना चाहिए और ऐसे घो’टालों के शि’कार होने से बचना चाहिए। अगर ऐसा कोई मामला सामने आता है तो तुरंत कार्र’वाई की जाएगी।