Categories
Other

इस कपड़े को पहनकर शा’री’रि’क सं’बं’ध बनाने से मिलेगा ज्यादा आनंद, आज़माकर देखो!!

ये बात तो वैसे सब जानते हैं कि तो शा’री’रि’क सं’बंध बनाने के दौ’रा’न श’री’र के वस्त्र उतारने पड़ते हैं। लेकिन एक शो’ध में इस बात का खु’ला’सा हुआ है कि अगर कोई महिला पूरे कपड़ों को नहीं उतारना चाहती हैं तो इन कपड़ों को पहने रहने से सं’बं’ध बनाते समय कोई दिक्कत नहीं आएगी बल्कि उसे च’र’म सुख की प्राप्ति का अनुभव होगा।

आपको बता दें शो’ध में पता चला है कि अगर शा’री’री’क सं’बं’ध के समय मोजे को पहना जाए तो ऐसा करने से आ’र्ग’ज्म और अच्छे तरीके से मिल सकता है। यह बात महिलाओं पर वि’शे’ष’तौ’र पर लागू होती है।

शो’ध कर्ताओं द्वारा किए शो’ध में इस बात का पता चला है कि मोजे पहनने से पैरों में गर्माहट रहती है जिसकी वजह से पैरों की र’क्त वाहिकाओं में संचार होता है, जिसके कारण बेहतर अनुभव की प्राप्ति होती है।

शो’धा’र्थि’यों ने इस बात का दा’वा किया है कि सं’बं’ध बनाने के दौ’रा’न वातावरण का बहुत असर पड़ता है। इसलिए महिलाएं जब मोजे पहनती हैं तो उनका दिमाग शांत हो जाता है और वह खुद को सुरक्षित महसूस करने लगती हैं।

आ’र्ग’ज्म तक पहुंचने के लिए मनुष्य का दिमाग सही अवस्था में होना चाहिए। इस समय दिमाग के कुछ हि’स्से ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं इस वजह से त’ना’व की स्थिती उत्पन्न होने लगती है। मोजे पहनने से श’री’र को आराम मिलता है।