Categories
Other

दुनिया भर में कोरोना केस के बढ़ते कहर के बीच WHO के बयान से जगी उम्मीद, जानें क्या हैं?

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में करीब 23 लाख मामले सामने आ चुके हैं. इन मामलों में एक्टिव मरीजों की संख्या 6 लाख 40 हजार है. आंकड़ों के मुताबिक, मृत्यु दर गिरकर 1.99 फीसदी पर आ गई है.  पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 करोड़ के पार हो चुकी है. इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने से अब तक साढ़े 7 लाख लोग जान गंवा चुके हैं.

WHO के निदेशक टेडरस अधनोम ने जेनेवा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ‘मैं जानता हूं आप में से बहुत से लोग काफी दुख में हैं. पूरी दुनिया के लिए ये बड़ा मुश्किल समय है. लेकिन मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हमारे पास अभी भी उम्मीदें बाकी हैं, फिर चाहे वो कोई देश, क्षेत्र, शहर या कोई कस्बा ही क्यों ना हो. कोविड-19 को रोकने में अभी भी बहुत देरी नहीं हुई है.’ टेडरस ने कहा, ‘साउथ-ईस्ट एशिया के देश, न्यूजीलैंड, रवांडा, कैरिबियन और प्रशांत के द्वीप भी वायरस से जल्द निजात पाने में सफल हुए हैं.’ इतना ही नहीं, फ्रांस, जर्मनी, साउथ कोरिया, स्पेन, इटली और ब्रिटेन जैसे उन देशों ने भी वापसी की है, जिन्हें कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया था.

WHO प्रमुख ने आगे कहा कि प्रभावित देशों में नए मामलों की दर में गिरावट, उनके नेताओं द्वारा उठाए गए मजबूत और सटीक कदम का ही परिणाम है. उन्होंने घर में रहना या मास्क पहनना जैसे कई सख्त कदम उठाए गए हैं. जॉन हॉपकिंस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस का सबसे बुरा प्रभाव अमेरिका पर पड़ा है.